You are here
Home > Biography > Who was Professor GD Agarwal and Who Was on Fast For 111 Days

Who was Professor GD Agarwal and Who Was on Fast For 111 Days

Professor-GD-Agarwal-111-fast

Who was Professor GD Agarwal and Who Was on Fast For 111 Days Fasting to Death to Save Ganga, professor GD agarwal biography in hindi, wikipedia Professor G D Agarwal Passes Away

कौन थे प्रोफेसर जीडी अग्रवाल और क्यों किया 111 दिनों का अनशन

हिंदी में पढ़ने के लिया पेज को नीचे की और स्क्रोल करो

प्रोफेसर जीडी अग्रवाल कौन थे:

प्रोफेसर जीडी अग्रवाल का जन्म 20 जुलाई 1932 को यूपी के जिला मुजफ्फरनगर के कांधला में हुआ था. इन्होंने अपनी शुरुआती शिक्षा गांव के प्राइमरी स्कूल में पूरी की और इसके बाद जीडी अग्रवाल ने अपनी ग्रेजुएशन (सिविल इंजीनियरिंग) को यूनिवर्सिटी ऑफ रुड़की (IIT Roorkee) से पूरा किया. उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया एंड बर्केले से (environmental engineering ) एनवायर्मेंटल इंजीनियरिंग में PDH पीएचडी पूरी की.

जी डी अग्रवाल आईआईटी कानपुर में प्रोफेसर रह चुके थे, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड board के सदस्य की ज़िम्मेदारी भी उन्होंने निभाई.

जी डी अग्रवाल 2011 में संन्यासी हो गए और अपना नाम जीडी GD अग्रवाल से बदल कर स्वामी ज्ञान स्वरुप सानंद (Sant Swami Sanand, Sant Swami Gyan Swaroop Sanand) कर लिया.

क्यों किया 111 दिनों का अनशन

जी डी अग्रवाल उर्फ स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद, पिछले 111 दिनों से गंगा की सफ़ाई को लेकर अनशन कर रहे थे.वह 86 साल के थे और 22 जून से ले कर अनशन कर रहे थे. इन्होंने पहले भी कई बार अनशन किया था.

गुरुवार (11 October 2018) दोपहर दिल का दौरा पड़ने से जी डी अग्रवाल का निधन हो गया.उन्होंने पिछले हफ्ते ही ऐलान कर दिया था कि अगर 9 अक्टूबर तक उनकी सारी मांगे नहीं मानी गई तो वो पानी भी त्याग देंगे

वे गंगा की सफाई को लेकर, अवैध खनन, और बांधों के निर्माण को रोकने के लिए लंबे समय से आवाज उठा रहे थे. उन्होंने इसके बारे में सरकार को भी पत्र लिखा था.उन की  मांग गंगा के संरक्षण के लिए कानून बनाने की थी.

नदियों का पानी क्यों गंदा हो रहा है

जब पहाड़ों से पानी निकल कर धरती पर आता है उसमें कई इंडस्ट्री का गंदा पानी मिक्स हो जाता है जिसके कारण प्रदूषण फैल जाता है.
जब नदियां शहर के पास जा शहर के अंदर से निकलती हैं तो सीवरेज और गलियों का पानी मिक्स होने से भी नदियों का पानी गंदा हो जाता है .
नदियों का पानी सीवरेज इंडस्ट्रीज का गंदा पानी मिक्स होने से तो होता ही है इसका एक कारण हमारी धार्मिक आस्था के साथ भी जुड़ा हुआ है.

जब हम अपनी पूजा पाठ की सामग्री जैसे फूल माला मूर्ति और कई सामग्री जब हम नदियों के पानी में फेंक देते हैं परवाह देते हैं इस कारण भी नदियों का पानी प्रदूषित होता है.

अगर हमारे घर गली मुहल्ले स्वच्छ और साफ रह सकते हैं तो हमारी नदियां क्यों नहीं

Who was Professor GD Agarwal and Who Was on Fast For 111 Days Fasting to Death to Save Ganga, professor GD agarwal biography in hindi, wikipedia Professor G D Agarwal Passes Away

Top