You are here
Home > Editorial > What is the hashtag MeToo #MeToo campaign, founder and its purpose

What is the hashtag MeToo #MeToo campaign, founder and its purpose

hashtag-MeToo-campaign

What is the hashtag MeToo #MeToo campaign, who is the founder of #MeToo campaign, what is the purpose of hashtag MeToo #MeToo campaign, hashtag MeToo #MeToo movement meaning, hashtag MeToo #MeToo movement articles, #metoo campaign

हैशटैग मीटू #MeToo अभियान क्या है, यह अभियान कहां से और कब शुरू हुआ, कौन है इस के संस्थापक और क्या है इसका मकसद,

हिंदी में पढ़ने के लिया पेज को नीचे की और स्क्रोल करो

मी टू  #MeToo कैंपेन क्या है 

इन दिनों #MeToo कैंपेन की काफी चर्चा हो रही है.इस कैंपेन के जरिए, हर रोज महिलाएं अपने साथ हुए सेक्सुअल हैरासमेंट की घटनाओं को सोशल मीडिया के जरिए शेयर कर रही हैं. इस कैंपेन से पता चला कि घर में और घर से बाहर कामकाजी क्षेत्रों में किस तरह उन्हें शोषण का सामना करना पड़ता है.

#MeToo कैंपेन का मकसद क्या है

यह एक ऐसा कैंपेन है, जिसके जरिए महिलाएं वर्कप्लेस पर अपने साथ हुए यौन शोषण का खुलासा कर रही हैं। इसमें ऐसी बातों को भी बताया जा रहा है, जिसके चलते किसी महिला को असुरक्षा महसूस हुई, उसे अपमानित महसूस हुआ और उसे शारीरिक या मानसिक तौर पर प्रताड़ित होना पड़ा।

इस मुहिम से यह पता चला कि फिल्म इंडस्ट्री, कई कॉरपोरेट कंपनी, ऑफिस, मीडिया, राजनीति, से लेकर और कई ऐसे क्षेत्र हैं, जहां महिलाओं को असरदार पदों पर मौजूद पुरुषों के हाथों यौन शोषण झेलना पड़ा है।

इस अभियान का दुनिया पर कितना और किस तरह असर पड़ेगा, यह तो वक्त ही बताएगा पर इस कैंपेन के जरिए दुनिया भर की महिलाओं ने अपने साथ हुए यौन शोषण के हादसों को सोशल मीडिया के जरिए खुलकर सामने रखा हैं ।

#MeToo कैंपेन पहली बार कब शुरू हुआ?

मी टू कैंपने #MeToo कैंपेन की शुरुआत हॉलीवुड से हुई है। 2006 में अमेरिकी सिविल राइट्स एक्टिविस्ट तराना बर्क ने पहली बार इसकी शुरुआत की।

कुछ लोग इस कैंपेन का विरोध कर रहे हैं और इस कैंपेन पर सवाल कर रहे हैं

विरोध कर रहे लोगों का कहना है कि उन्हें इस तरह की घटना को लोगों के सामने रखने के लिए इतने सालों का समय क्यों लगा, वहां ही कुछ लोग महिलाओं के जज्बे को सलाम कर रहे हैं और लोगों का कहना है इस तरह की नीच हरकत करने वालों का नाम सामने आना ही चाहिए और उन्हें सजा भी मिलनी चाहिए

हर एक चीज के अपने फायदे और नुकसान होते हैं  इस से बिलकुल भी इनकार नहीं किया जा सकता है

इस अभियान के जरिए कई पैरंट्स अपने घर में अपने बच्चे बच्चियों को अपनी सुरक्षा के बारे में बता रहे हैं और अपनी सुरक्षा के बारे में किससे और कैसे बात करें इससे जागरूक कर रहे हैं

टीचर और ऐसी कई संस्थाएं हैं जो स्कूलों और कॉलेज में जाकर बच्चियों को अपनी सुरक्षा के बारे में जागरूक कर रही हैं

What is the hashtag MeToo #MeToo campaign, who is the founder of #MeToo campaign, what is the purpose of hashtag MeToo #MeToo campaign, hashtag MeToo #MeToo movement meaning, hashtag MeToo #MeToo movement articles, #metoo campaign

 

Top