You are here
Home > Daily GK Update > Under the Gaganyaan Mission, 3 crew members will be sent in space for 7 days, approved budget of 10 thousand crore

Under the Gaganyaan Mission, 3 crew members will be sent in space for 7 days, approved budget of 10 thousand crore

Gaganyaan Mission keys facts

ISRO Gaganyaan Mission 2022, Gaganyaan programme, what is gaganyaan mission keys facts, gaganyaan mission with which country, gaganyaan mission wiki, Vyomanauts words meaning, gaganyaan mission with which country, gaganyaan manufacturers, gaganyaan mission collaboration gaganyaan mission wiki gaganyaan mission upsc gaganyaan mission GK topic UPSC exam gaganyaan mission isro gaganyaan mission director gaganyaan mission which country signed gaganyaan mission in hindi

हिंदी में पढ़ने के लिया पेज को नीचे की और स्क्रोल करो

ISRO Gaganyaan Mission, 3 crew members will be sent in space for 7 days, approved budget of 10 thousand crore and keys facts

Now the name of India will come in those countries, which are capable of sending human beings in space. Now there are three countries in this list. Russia, America, China. Russia first sent Yuri Gagarin human to space in 1961. The second was US, name of Alan Shepard on Mercury-Redstone 3 on May 5, 1961 and the third achievement by China, name of human Yang Liwei.

अब भारत का नाम उन देशों में आ जाएगा, जो देश अंतरिक्ष में मानव को भेजने में सक्षम हैं। अभी इस सूची में तीन देशों का नाम हैं. रूस, अमेरिका, चीन हैं.

रूस ने सबसे पहले 1961 में ही यूरी गागरिन को अंतरिक्ष में भेज दिया था। दूसरे नंबर पर अमेरिका ने और तीसरी उपलब्धि चीन ने हासिल की थी।

Is Gaganyaan Man Mission, ISRO Human Mission

Gaganyaan ‘GSLV Mark 3 Rocket will send 3 crew members (Astronaut) to space for 7 days. For this first Indian Gaganyaan Mission, the Cabinet has approved the budget of Rs. 10 thousand crore. For the ISRO Gaganyaan mission, the GSLV Mark 3, the largest rocket will install in Andhra Pradesh Sriharikota spaceport.

ISRO chairman K. Sivan said that this Gaganaya Mission’s Deadline is till 2022.

Astronauts in space will be called Vyomanauts during this Gaganyaan mission. Sanskrit word “vyom”, which means space.

क्या है गगनयान का मैन मिशन, इसरो मानव मिशन

‘गगनयान’ जीएसएलवी मार्क-3 रॉकेट से 3 क्रू मेंबर्स (एस्ट्रोनॉट) को 7 दिनों के लिए अंतरिक्ष में भेजा जाएंगे। इस पहले भारतीय गगनयान मिशन के लिए मंत्रिमंडल ने 10 हजार करोड़ रुपए के बजट को मंजूरी दी है। इसरो गगनयान मिशन के लिए आंध्रप्रदेश के श्रीहरिकोटा स्पेस पोर्ट पर अपना सबसे बड़ा रॉकेट जीएसएलवी मार्क 3 स्थापित करे गा और इसके जरिए 3 अंतरिक्ष यात्रियों को स्पेस में भेजा जाएगा।

इसरो के चेयरमैन के सिवन ने कहा इस गगनयान मिशन की डेडलाइन 2022 तक है।

क्रू मॉड्यूल ढांचा क्या होता है

क्रू मॉड्यूल वही ढांचा होता है, जिसमें अंतरिक्ष यात्री बैठते हैं और अंतरिक्ष में जाते है और फिर सुरक्षित अंतरिक्ष से घरती पर लौटते हैं।

मिशन गगनयान के बारे में और जानिए

इस गगनयान मिशन के दौरान अंतरिक्ष में भेजे जाने वाले अंतरिक्ष यात्रियों को व्योमनॉट्स कहा जाएगा। व्योमनॉट्स शब्द संस्कृत के “व्योम’ से लिया गया है, जिस का अर्थ अंतरिक्ष है।

भारत इस गगनयान मिशन में सफल हुआ तो ऐसा करने वाला चौथा देश होगा
राकेश शर्मा 1984 में अंतरिक्ष यात्रा करने वाले पहले भारतीय थे, लेकिन जे मिशन रूस का था

गगनयान मिशन के उद्देश्य

गगनयान मिशन से देश में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के स्तर में वृद्धि और औद्योगिक विकास में सुधार और अंतरराष्ट्रीय सहयोग में सुधार

 

ISRO Gaganyaan Mission 2022, Gaganyaan programme, what is gaganyaan mission, gaganyaan mission with which country, gaganyaan mission wiki, gaganyaan manufacturers, gaganyaan mission collaboration gaganyaan mission wiki gaganyaan mission upsc gaganyaan mission GK topic UPSC exam gaganyaan mission isro gaganyaan mission director gaganyaan mission which country signed gaganyaan mission in hindi

Subscribers and Get More Solution Send Email ID

Postbcc provide latest update news, Tips and Trick for technical solution, Biography, Punjab History, indian history, entertainment related content Like and Share Facebook Page

Recommended For You

Top