You are here
Home > Daily GK Update > Today is the Republic Day on 26th of January, why is it celebrated to celebrate Republic Day?

Today is the Republic Day on 26th of January, why is it celebrated to celebrate Republic Day?

Today is the Republic Day on 26th of January, why is it celebrated to celebrate Republic Day?

Today is the Republic Day on 26th of January, why is it celebrated to celebrate Republic Day?

हिंदी में पढ़ने के लिया पेज को नीचे की और स्क्रोल करो

This is celebrating 69th Republic Day. Heads of ASEAN countries are joining.
The world’s largest written constitution is ready in 2 years, 11 months, 18 days. January 26 is important for the Indians. On January 26, 1950, the Constitution of India came into effect. Celebrate this day with great enthusiasm every year. It is celebrated as Republic Day. This is a national festival of India.

This day is also important because after the country’s liberation, on this day, India becomes a fully democratic country. That is, a constitution came into force for the countrymen, which resulted in the rule of law in India, the people got the fundamental rights. That’s why this day is special for every countryman. On this day the President hovers the tri-color and the salute of 21 guns is given. Standing in collective form, the national anthem is sung.

आज 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस है,आइये जाने क्यों मनाया जाता है गणतंत्र दिवस ।

यह.देश 69वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। ASEAN देशों के प्रमुख शामिल हो रहे है।

दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान 2 साल, 11 माह, 18 दिन में तैयार हुआ। भारतवासियों के लिए 26 जनवरी महत्वपूर्ण दिन है।26 जनवरी 1950 के दिन भारत देश का संविधान लागू हुआ था.। हर वर्ष बड़े उत्साह के साथ इस दिन को सेलिब्रेट करते हैं। इसे गणतंत्र दिवस के तौर मनाया जाता है। यह भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है। यह दिन इस लिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि देश आजाद होने के बाद इसी दिन भारत पूर्ण गणतंत्रिक देश बना।

यानी देशवासियों के लिए एक संविधान लागू हुआ जिससे भारत में कानून का राज कायम हुआ, जनता को मौलिक अधिकार प्राप्त हुआ। इसलिए यह दिन हर देशवासियों के लिए खास है। इस दिन राष्ट्रपति तिरंगा फहराते हैं और 21 तोपों की सलामी दी जाती है। सामूहिक रूप में खड़े होकर राष्ट्रगान गाया जाता है।

गणतंत्र दिवस की तिथि जिस पर भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 को भारत सरकार अधिनियम (1 9 35) की जगह भारत के शासी दस्तावेज के रूप में लागू हुआ था

28 अगस्त 1 9 47 को, स्थायी संविधान का मसौदा तैयार करने के लिए मसौदा समिति की नियुक्त किया गया, जिसमें डॉ। बी आर अंबेडकर अध्यक्ष थे। जबकि भारत का स्वतंत्रता दिवस ब्रिटिश शासन से अपनी स्वतंत्रता मनाता है, गणतंत्र दिवस अपने संविधान के बल में आने का जश्न मनाता है। एक मसौदा संविधान समिति द्वारा तैयार किया गया था और विधानसभा को 4 नवंबर 1 9 47 को प्रस्तुत किया गया था। [3] संविधान को अपनाने से पूर्व विधानसभा की बैठक 166 दिनों के लिए जनता के लिए खुली हुई, दो साल की अवधि में फैली, 11 महीने और 18 दिन पहले हुई। कई विचार-विमर्श और कुछ संशोधनों के बाद, 24 जनवरी 1 9 50 को विधानसभा के 308 सदस्यों ने दस्तावेज़ की दो हाथ-लिखी प्रतियां  पर हस्ताक्षर किए। दो दिन बाद, यह पूरे देश भर में लागू हुआ।

Subscribers and Get More Solution Send Email ID

Postbcc provide latest update news, Tips and Trick for technical solution, Biography, Punjab History, indian history, entertainment related content Like and Share Facebook Page

Recommended For You

Top