You are here
Home > Daily GK Update > PM addresses Young Entrepreneurs “Champions of Change” NITI Aayog

PM addresses Young Entrepreneurs “Champions of Change” NITI Aayog

Champions of Change event

PM addresses Young Entrepreneurs at the “Champions of Change” initiative organised by NITI Aayog

हिंदी में पढ़ने के लिया पेज को नीचे की और स्क्रोल करो

The Prime Minister today interacted with Young Entrepreneurs at the “Champions of Change” initiative organized by NITI Aayog at Pravasi Bharatiya Kendra.

Six groups of Young Entrepreneurs made presentations before the PM on themes such as – Soft Power: Incredible India 2.0; Education and Skill Development; Health and Nutrition; Energizing a sustainable tomorrow; and Digital India; New India by 2022.

Appreciating the new ideas and innovations envisaged in the presentations made by the entrepreneurs, the Prime Minister said, that in times past, social initiatives had catered to the requirements of people at large, and these movements were spearheaded by eminent people in society.

The Prime Minister described the “Champions of Change” initiative as one effort to bring together diverse strengths for the benefit of the nation and society.

The Prime Minister said this initiative would be taken forward and institutionalized in the best possible way. One possibility could be to associate the groups that made presentations today, with the respective departments and Ministries in the Union Government.

He gave the example of Padma Awards to say how processes can be transformed to recognize hitherto unknown heroes of society.

The Prime Minister said the team of senior officers in Union Government are keen to explore new avenues and ways for the betterment of people. He encouraged the entrepreneurs to continue their ideation in their respective groups.  He said that if they did so, they could go a long way in furthering the cause of governance.

The Prime Minister said a lot of small changes have been brought in by the Union Government, which have brought significant results. He said trusting the common man, through self-attestation of documents is one such initiative. He also mentioned the abolition of interviews for Group C and D positions in the Union Government.

Shri Narendra Modi said that today there is an “app” for filling every gap. He said technology and innovation should be harnessed to transform governance. He said decentralized structures are important to nurture the rural economy. In this context, he mentioned the role of startups in catalyzing transformation.

The Prime Minister emphasized the importance of good teachers in society. He said technology can provide a big boost to the quality of education.

The Prime Minister encouraged the entrepreneurs to work towards promoting the social welfare schemes of the Government among their employees.

He emphasized that New India could only be built through the efforts of crores of ordinary citizens. He invited the entrepreneurs to join in this effort.

Several Union Ministers, Vice Chairman NITI Aayog Shri Arvind Panagariya, and senior Union Government officers were present on the occasion. The event was coordinated by CEO NITI Aayog, Shri Amitabh Kant.

 

प्रधान मंत्री नीती आयोज द्वारा आयोजित “चैंपियंस ऑफ चेंज” पहल में युवा उद्यमियों को संबोधित करते हैं

प्रधान मंत्री ने आज प्रवासी भारतीय केंद्र में नीती आयन द्वारा आयोजित “चैंपियंस ऑफ चेंज” पहल में युवा उद्यमियों के साथ बातचीत की। युवा उद्यमियों के छह समूह ने प्रधान मंत्री के समक्ष प्रस्तुतीकरण किया – जैसे सॉफ्ट पावर: अतुल्य भारत 2.0; शिक्षा और कौशल विकास; स्वास्थ्य और पोषण; एक टिकाऊ कल उत्साहित करना; और डिजिटल भारत; 2022 तक नया भारत

उद्यमियों द्वारा किए गए प्रस्तुतियों में विचार किए गए नए विचारों और नवाचारों की सराहना करते हुए प्रधान मंत्री ने कहा कि पिछली बार, सामाजिक पहलुओं ने लोगों की आवश्यकताओं को पूरा किया था, और इन आंदोलनों को समाज के प्रख्यात लोगों ने आगे बढ़ाया था।

राष्ट्र और समाज के लाभ के लिए विविध शक्तियों को एक साथ लाने के एक प्रयास के रूप में प्रधान मंत्री ने “चैंपियंस ऑफ चेंज” पहल का वर्णन किया।

प्रधान मंत्री ने कहा कि यह पहल सबसे आगे बढ़ेगी और सबसे अच्छा संभव तरीके से संस्थागत हो जाएगा। केंद्र सरकार के संबंधित विभागों और
मंत्रालयों के साथ आज जो समूह ने आज प्रस्तुतीकरण किया, उनको एक साथ जोड़ा जा सकता है।

उन्होंने पद्मा पुरस्कारों का उदाहरण बताया कि समाज के अब तक अज्ञात नायकों को पहचानने के लिए प्रक्रियाओं को कैसे बदला जा सकता है।

प्रधान मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों की टीम लोगों की भलाई के लिए नए रास्ते तलाश रही है। उन्होंने उद्यमियों को अपने
संबंधित समूहों में अपनी सोच को जारी रखने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि यदि वे ऐसा करते हैं, तो वे शासन के कारण को आगे
बढ़ाने में काफी मदद कर सकते हैं।

प्रधान मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा कई छोटे बदलाव लाए गए हैं, जिससे महत्वपूर्ण परिणाम सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि दस्तावेजों के
स्वयं साक्ष्य के माध्यम से आम आदमी पर भरोसा करना एक ऐसी पहल है। उन्होंने केंद्र सरकार में समूह सी और डी पदों के लिए साक्षात्कारों के
उन्मूलन का भी उल्लेख किया।

श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज हर अंतर को भरने के लिए एक “ऐप” है। उन्होंने कहा कि शासन और नवाचार
को शासन बदलने के लिए उपयोग किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को विकसित करने के लिए विकेंद्रीकृत संरचना महत्वपूर्ण
हैं। इस संदर्भ में, उन्होंने रूपांतरण को उत्प्रेरित करने में शुरूआत की भूमिका का उल्लेख किया

प्रधान मंत्री ने समाज में अच्छे शिक्षकों के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ावा दे सकती है। प्रधान मंत्री
ने उद्यमियों को अपने कर्मचारियों के बीच सरकार की सामाजिक कल्याण योजनाओं को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित किया।
उन्होंने जोर देकर कहा
कि करोड़पति आम नागरिकों के प्रयासों के माध्यम से नई भारत ही बनाया जा सकता है। उन्होंने उद्यमियों को इस प्रयास में शामिल होने के लिए
आमंत्रित किया।
इस अवसर पर कई केंद्रीय मंत्रियों, उपाध्यक्ष नीती का प्रयोग श्री अरविंद पनगारीया और वरिष्ठ केंद्रीय सरकारी अधिकारी उपस्थित थे।
इस कार्यक्रम का समन्वय सीईओ नीती आइड द्वारा किया गया, श्री अमिताभ कांत

Postbcc provide latest update news, Tips and Trick for technical solution, Biography, Punjab History, indian history, entertainment related content Like and Share Facebook Page

Recommended For You

Top