You are here
Home > Biography > Celebrates The 98th Birthday Of Geochemist Katsuko Saruhashi

Celebrates The 98th Birthday Of Geochemist Katsuko Saruhashi

Celebrates The 98th Birthday Of Geochemist Katsuko Saruhashi

autobiography Katsuko Saruhashi in hindi and english history of Katsuko Saruhashi
Brith Awards Education professional life Katsuko Saruhashi was born in Tokyo and
graduated from the Imperial Women’s College of Science predecessor of Toho University
in 1943 Katsuko Saruhashi was a Japanese geochemist

हिंदी में पढ़ने के लिया पेज को नीचे की और स्क्रोल करो

Celebrates The 98th Birthday Of Geochemist Katsuko Saruhashi

Saruhashi was born on 22 March 1920 in Tokyo, Japan. She was the first woman to get doctorate from the University of Tokyo in Chemistry. He is famous for his ground breaking research in the form of geochemist. On the 94th birth anniversary of Japanese scientist Katsuo Sruhashi, Google has given a tribute to the doodle.

Education and professional life

In 1957 he received a doctorate in chemistry from Tokyo University. He had only studied and explained how the sea is affected by nuclear radiation. After that, testing of nuclear weapons across the globe could be controlled. He started his career by working in the laboratory of Metrological Research Institute. Studying the amount of carbon dioxide (CO2) in sea water is considered as one of his most notable discoveries.

Awards
Won Avon Special Prize for Women
First lady to win the Miyake Award for Geochemistry
Won the Tanaka Award from the Society of Sagar Hydrology
Sirhashashi was an honorary member of Japan’s Geochemical Society and the Oshonographical Society of Japan.
The first woman to be elected to the science council of Japan
To set up a society of Japanese women scientists to promote women in science and contribute to world peace

 death
Sarkhiashi died in Tokyo on September 29, 2007 in his home pneumonia. She was 87.

जिओकेमिस्ट कात्सुओ सरुहशी का 98 वां जन्मदिन

सरुहाशी का जन्म 22 मार्च 1920 को जापान के टोक्यो में हुआ था।केमेस्ट्री में यूनिवर्सिटी ऑफ टोक्यो से डॉक्ट्रेट की उपाधि पाने वालीं वह पहली महिला थीं। वह जियोकेमिस्ट के रूप में अपनी ग्राउंट ब्रेकिंग रिसर्च के लिए प्रसिद्ध है।जापानी वैज्ञानिक कात्सुओ सरुहाशी की 94 वीं जयंती पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

शिक्षा और पेशेवर जीवन

उन्होंने 1957 में टोक्यो विश्वविद्यालय से रसायन विज्ञान में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने ही अध्ययन करके यह बताया था कि समुद्र किस तरह परमाणु विकिरण से प्रभावित होता है। जिसके बाद दुनिया भर में समुद्र के अंदर परमाणु हथियारों के परीक्षण को नियंत्रित किया जा सका।उन्होंने मेट्रोलॉजिकल अनुसंधान संस्थान की प्रयोगशाला में काम करने से अपने करियर की शुरुआत की थी। समुद्र के पानी में कार्बन डाई ऑक्साइड (CO2) की मात्रा के अध्ययन को उनकी सबसे उल्लेखनीय खोजों में से एक माना जाता है।

पुरस्कार
महिलाओं के लिए एवन स्पेशल प्राइज जीता
जीओकेमिस्ट्री के लिए मियाके पुरस्कार जीतने वाली पहली महिला
सोसाइटी ऑफ सागर जल विज्ञान से तनाका पुरस्कार जीता
सरुहशी जापान के जीओकेमिकल सोसाइटी और जापान के ओशोनोग्राफिकल सोसायटी के मानद सदस्य थे
जापान की विज्ञान परिषद के लिए चुने जाने वाली पहली महिला
विज्ञान में महिलाओं को बढ़ावा देने और विश्व शांति के लिए योगदान करने के लिए जापानी महिला वैज्ञानिकों की सोसायटी की स्थापना की

Death
टोक्यो में सरुहशी अपने घर में निमोनिया के 29 सितंबर 2007 को मृत्यु हो गई। वह 87 थी

autobiography Katsuko Saruhashi in hindi and english history of Katsuko Saruhashi Brith Awards Education
professional life Katsuko Saruhashi was born in Tokyo and graduated from the Imperial Women’s College of
Science predecessor of Toho University in 1943 Katsuko Saruhashi was a Japanese geochemist

Postbcc provide latest update news, Tips and Trick for technical solution, Biography, Punjab History, indian history, entertainment related content Like and Share Facebook Page

Recommended For You

Top